जनसँख्या नियंत्रण समझा रहे नीतीश कुमार ने कह दी अनियंत्रित बात …हो गई थू थू

 नीतीश कुमार ने बिहार की महिलाओं को शर्मसार किया…

बिहार में जातिगत आधारित जनगड़ना के आंकड़े पेश हो गए हैं. विधानसभा में बैठक के दौरान बिहार ले सीएम नीतीश कुमार ने ऐसा कुछ कहा जिसपर सोशल मीडिया पर जंग छिड़ गयी

सदन में बहस के दौरान सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार में महिलाओं कीपढाई लिखे ब बढ़ी है. उन्होंने कहा कि लड़की पढ़ी लिखी रहेगी तो जनसंख्या नियंत्रित रहेगी.अपने इस बात को समझना के लिए सीएम ने कहा, अगर ‘लड़की पढ़ लिख लेगी अगर, तो जब शादी होगा. तब पुरुष रोज रात में करता है ना. उसी में और (बच्चे) पैदा हो जाता है. लड़की अगर पढ़ लेगी तो उसको भीतर मत …, उसको …. कर दो. इसी में संख्या घट रही है

इस बात चित के दौरान अजीब स्थिति सदन में देखने को मिली. बहुत सी महिला विधायक इसपर नाराज दिखीं तो वहीं कुछ अन्य विधायक इस बात पर है रहे थे हंस रहे थे.
अपने चर्चा में CM ने कहा कि 2011 की जनगणना की तुलना में साक्षरता दर 61 फीसदी से बढ़कर 79 फीसदी से ऊपर हो गई है.

सीएम नीतीश कुमार ने  आरक्षण का दायरा बढ़ाने का प्रस्ताव रखा –

अपने संबोधन में सीएम नीतीश ने एक बड़ा ऐलान भी किया. इसमें उन्होंने बिहार में ओबीसी आरक्षण बढ़ाने का प्रस्ताव रखा. सीएम नीतीश ने राज्य में आरक्षण का दायरा बढ़ाकर 50 से 65 करने का प्रस्ताव रखा. ईडब्ल्यूएस के 10 फीसदी को मिलाकर आरक्षण 75 फीसदी करने का प्रस्ताव रखा गया है. चर्चा के दौरान सीएम नीतीश ने कहा कि आरक्षण बढ़ाने के लिए सलाह ली जाएगी. हम इसी सत्र में बदलावों को लागू करना चाहते हैं.

Leave a Comment